मस्त विचार 2271

मैं हूँ शक और तुम यकीन,

जो मैं नहीं, तो तुम नहीं.

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *