मस्त विचार 2274

जब इंसान अव्यक्तिगत और नि: स्वार्थ सेवा करता है,

तब उसे कुछ भी खोने का डर नहीं रहता.

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *