मस्त विचार 2276

जिस नजाकत से लहरें पैरों को छूती है…

यकीन नहीं होता इन्होनें कभी कश्तियाँ डूबाई होंगी.

मस्त विचार 2272

छु जाते हो तुम हर रोज एक नया ख्वाब बनकर,

ये दुनिया खामखां कहती है की तुम मेरे करीब नहीं………!!!!