मस्त विचार 2771

एक क़तरा ही सहीं, मुझे ऐसी नियत दें मौला;

किसी को प्यासा जो देखूँ, तो ख़ुद पानी हों जाऊँ.

error: Content is protected