सुविचार 2952

” चलना आ जाए बड़ी बात नहीं,

किधर चलना है, ये समझना़ बहुत जरूरी है,”

सुविचार 2951

झूठ को अच्छे लहजे की ज़रूरत है,

सच तो हर लहजे में कड़वा ही होता है.

मस्त विचार 2826

जिंदगी तो सारी उम्र संभालती रही, हमें दो पाँवों पर…

मौत के नखरे तो देखो आते ही कह दिया : “मुझे चार कँधे चाहिए…”

सुविचार 2950

घोड़ा प्रथम वही आता है, जिसका सवार अच्छा हो.

परिवार आगे वही बढ़ता है, जहाँ मुखिया समझदार हो.

error: Content is protected