सुविचार 2897

भले ही, हम अपनी चाल से तेज क्यूँ न चलें पर

वक्त, और तकदीर से आगे कभी नहीं निकल सकते.

मस्त विचार 2771

एक क़तरा ही सहीं, मुझे ऐसी नियत दें मौला;

किसी को प्यासा जो देखूँ, तो ख़ुद पानी हों जाऊँ.

सुविचार 2895

जो है और जो नहीं है ….

जो भी चीज़े आपके पास है या जो कुछ भी आपको हासिल है उसका महत्त्व और मूल्य समझकर उसके साथ खुश रहिये, जो आपके पास नहीं है उसके लिए ज्यादा फ़िक्र करना और दुखी होना सर्वथा अनुचित है, हां जो नहीं है उसके लिए एक सीमा तक प्रयास किया जा सकता है किन्तु जो आपके पास है उसके साथ संतुष्ट होकर रहना अपार सुख और शान्ति देनेवाला है !!!

error: Content is protected