मस्त विचार 2543

यहाँ कौन रह सका अकेला, अकेले रहने और जीने की बात बेमानी.

जो जगत के संग नाच उठे,,,,,वो ही है विरला ज्ञानी.

Submit a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *