सुविचार 2833

3790385987_a9c65c207d

प्रसन्नताएं फूलों की तरह जब एक जगह इकट्ठी हो जाती है तो उन के ख़त्म होने में देर नहीं लगती.

सुविचार 2831

जीवन में सुखी रहने के लिए दो शक्तियों का होना जरुरी है,

पहली सहन शक्ति और दूसरी समझ शक्ति !

सुविचार 2830

शब्द कितनी भी समझदारी से इस्तेमाल कीजिए,

फिर भी…………..सुनने वाला…..

अपनी योग्यता और मन के विचारों के अनुसार ही उसका मतलब समझता है..

सुविचार 2829

“हमेशा अपने विचारों, शब्दों और कर्म के पूर्ण सामंजस्य का लक्ष्य रखें. हमेशा अपने विचारों को शुद्ध करने का लक्ष्य रखें और सब कुछ ठीक हो जायेगा….”