सुविचार 2461

” सुबह की ताकत ”

दिन की सबसे खूबसूरत शक्ल सुबह होती है. सुबहों का मैं हमेशा से दीदार करता रहा हूँ. अब तक जहां- जहां रहा हूँ, वहां की सुबह बहुत अलग- अलग दर्शन देती रही है. कुछ ना कुछ नया हर जगह की सुबह से सीखने को मिलता है. हर सुबह को जीवन की नयी शुरुआत मान सकते हैं.

कल से क्या मतलब. सुबह आपको आज का एहसास कराएगी. अभी आज इसी समय में रहना सुबह होना है. कल के काल में घटी नकारात्मकता से उबारना सुबह होना है. हर दिन एक नये जीवन का एहसास करना. जैसे कि जो है वो आज से ही शुरू है, कल चाहे जैसा भी रहा हो, आज अच्छा ही होगा. इसका एहसास सुबह है.

ऊर्जा का अनंत एकदिशीय प्रवाह जो सिर्फ आपको ताकतवर बनायेगा. आप को कभी कितना भी कमजोर क्यों ना लगे, बस एक बार सुबह में डूब के देखिए. प्रकृति की तेज बहती हवा में परिश्रम का स्नान सुबह करके देखिये, अपने नये होने का एहसास होगा आपको.

सुविचार 2460

जिन पौधों की परवरिश हमेशा छांव में होती है वह अक्सर कमजोर होते हैं,

और जिन पौधों की परवरिश धूप में होती है वो हर मौसम को झेल लेते हैं.

सुविचार 2459

सुलझा हुआ मनुष्य वह है, जो अपने निर्णय स्वयं करता है,

और उन निर्णयों के परिणाम के लिए किसी दूसरे को दोष नहीं देता.

सुविचार 2458

जो लोग ईर्ष्या करते हैं, वो दूसरों के लिए कष्ट दायक हो सकते हैं ;

लेकिन अपने लिए वो एक यातना बन जाते हैं.

The jealous are troublesome to others, but a torment to themselves.

सुविचार 2457

जीवन में अनेकों बार हम छोटे से लाभ के लिए अपने आपको मुसीबतों में डाल लेते हैं.

अतः हमें तात्कालिक लाभ नहीं देखते हुए किसी विषय पर विस्तारपूर्वक सोचना चाहिए कि क्या गलत है और क्या सही.