सुविचार 4076

“दोहरा चरित्र आदमी की स्वभाविकता को नष्ट कर देता है,

और अस्वभाविकता सारा जीवन नष्ट कर देती है”

सुविचार 4075

” छोटे छोटे लालच हमेशा बड़े लाभों से चूक जाया करते हैं,

और बड़े लालच यथासंभव जीवन से,”

सुविचार 4073

” भरोसा कीजिए! बड़े से बड़े आदमी से भी बड़ा,

एक अच्छा आदमी होता है,”

सुविचार 4072

“अपने ही सवाल सुलझ़ाने हों तो, उत्तर भी अपने ही भीतर से आने दो,

बाहर के उत्तर कभी भी अपने भीतर संतृप्ति नहीं दे पाते”

सुविचार 4071

इनसान मायूस इसलिए होता है, क्योंकि वो अपने रब को राजी करने के बजाय

_ लोगों को राजी करने में लगा रहता है.

error: Content is protected